मैं, लेखनी और जिंदगी

गीत, ग़ज़ल, बिचार और लेख

199 Posts

1310 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 10271 postid : 589244

हे राम आशाराम

  • SocialTwist Tell-a-Friend

हे राम
आशाराम
राम राम
जमीनो का अतिक्रमण
लड़कियों का योन शोषण
भ्रष्‍ट तरीको से पेसा कमाना
आस्था के नाम पर भावनाओ से खिलवाड़
क्या एसे होते हैं बाबा
सभी अपने नैनो को खोले
चंगुल से आज़ाद हो जाओ
कि कहीं अगला नंबर आपका ना हो
क्या हमें जरूरत है ऐसे डोंगी की
जाना है तो नारायण की शरण में जाओ
शिव की शरण में जाओ
और अपना जीवन सफल बनाओ
हमारे पास ज्ञान के लिये गीता है
वेद है
फिर भी हम बाबाओ के जाल में कैसे फंस जाते है
दुनिया को मोहमाया से मुक्त होने का संदेश देने वाला
खुद समधी का बहाना बना कर
पुलिस से बचना चाह रहा है
क्या बहाना लगाया है पुलिस से बचने का !
ये बापू और वो बापू गुजरात की ही धरती पर के दो अलग अलग उदाहरण
एक बेचारी नाबालिक लड़की के साथ
जिसका सारा परिवार इसको भगवान मानता हो
लड़की के पिता ने अपनी जमीन आश्रम के लिये दे दी हो
वो ही बाप आज कानून का दरवाज़ा खटखता रहा है
सी बी आई की जांच की मांग करता है
और कह रहा है अगर पिता गलत है तो फाँसी दे दो
नही तो बाबा को
अंधविश्वास को समाज मे फ़ैलाने बाला
लोगों को बहकाने वाला आज बाबा बना बेठा है
और अंधविश्वास के खिलाफ मुहिम चलाने वाले
दाभोलकर जैसे समाजसुधारो को मौत के घाट उतार दिया जाता है
और पुलिस उन हत्यारो को पकड भी नही पाती
क्योंकि हिन्दुस्तान की पब्लिक भी बेबकूफ है
तभी तो इन दुष्टो का धंधा खूब फूलता फलता है
हे राम
आशाराम
राम राम

मदन मोहन सक्सेना

| NEXT

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

22 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

meenakshi के द्वारा
September 6, 2013

“क्योंकि हिन्दुस्तान की पब्लिक भी बेबकूफ है तभी तो इन दुष्टो का धंधा खूब फूलता फलता है ” – आपकी पंक्तियों देश के कटु सत्य को उजागर करती हैं .एक सार्थक रचना है . मीनाक्षी श्रीवास्तव

deepakbijnory के द्वारा
September 3, 2013

बहूत khoob मदनमोहन ji

bdsingh के द्वारा
September 2, 2013

धर्मतन्त्र के दिग्गज बजाते अपनी ढफली अपना राग। वैभव में रह कर देते उपदेश सादगी का।। अंधविश्वास से बाहर निकलने की बात कही है आपने ,बहुत अच्छा

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    September 2, 2013

    बहुत बहुत धन्यवाद .

Bhagwan Babu के द्वारा
September 2, 2013

बहुत सुन्दर….. बधाई….

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    September 2, 2013

    बहुत बहुत बहुत धन्यवाद .सदैव मेरे ब्लौग आप का स्वागत है

Bhagwan Babu के द्वारा
September 2, 2013

बहुत सुन्दर…

surendra shukla bhramar5 के द्वारा
September 1, 2013

सभी अपने नैनो को खोले चंगुल से आज़ाद हो जाओ कि कहीं अगला नंबर आपका ना हो क्या हमें जरूरत है ऐसे ढोंगी की जाना है तो नारायण की शरण में जाओ.. प्रिय मदनमोहन जी ..सटीक सत्य को दर्शित करती सुन्दर आह्वान आँखें खोलने के लिए अन्धानुकरण ना करे कोई .. भ्रमर ५

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    September 2, 2013

    बहुत धन्यवाद .सदैव मेरे ब्लौग आप का स्वागत है.

bhanuprakashsharma के द्वारा
September 1, 2013

सुंदर रचना, बधाई

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    September 2, 2013

    बहुत धन्यवाद .

bhanuprakashsharma के द्वारा
September 1, 2013

सुंदर व सार्थक रचने के लिए बधाई।

bhanuprakashsharma के द्वारा
September 1, 2013

सुंदर व सार्थक रचने के लिए बधाई। 

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    September 2, 2013

    सदैव मेरे ब्लौग आप का स्वागत है. धन्यवाद .

bhanuprakashsharma के द्वारा
September 1, 2013

सुंदर व सार्थक रचना के लिए बधाई। 

DR. SHIKHA KAUSHIK के द्वारा
August 31, 2013

क्या एसे होते हैं बाबा सभी अपने नैनो को खोले चंगुल से आज़ाद हो जाओ very right indeed .

jlsingh के द्वारा
August 31, 2013

हे राम! तुम्हारे देश के बाबा, लेकर तेरा नाम, करे हर काम, हो जाय बदनाम, मगर न छोड़े गन्दा काम …वही तो बना है, आशाराम! सुन्दर! अब तो उनके अनुयायियों की ऑंखें खुल जानी चाहिए!

udayraj के द्वारा
August 30, 2013

राम नाम की लूट है लूट सको तो लूट पर राम नाम की आड़ मे जनता को मत लूट ।। आपकी कविता आज के संदर्भ में एक रौशनी का काम करती है ।

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    August 30, 2013

    ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद.शुभकामनाएं.

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    September 2, 2013

    हार्दिक शुभकामनाएं.ब्लॉग पर आने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद


topic of the week



latest from jagran