मैं, लेखनी और जिंदगी

गीत, ग़ज़ल, बिचार और लेख

194 Posts

1310 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 10271 postid : 684154

ये कैसा समाजबाद ये कैसा लोक संस्कृति का महोत्सब

  • SocialTwist Tell-a-Friend

ये कैसा समाजबाद
ये कैसा लोक संस्कृति का महोत्सब
जहां ना तो लोक के ही दर्शन हुए
और ना ही संस्कृति का दर्शन हुआ
केबल दिखाबा दिखाबा और दिखाबा
सम्बेदनहीनता की पराकाष्टा
एक तरफ सैफई तो दूसरी तरफ ऐसी जगह जहां लोक त्रस्त हैं
अपने बच्चों की जान माल की हिफाज़त नहीं कर पा रहें हैं
कहतें हैं न कि जगह बदलती है
माहौल बदल जाता है
ये युबा सी एम् के इलाके में देखने को मिल जाता है
आम आदमी के कष्ट बैसे के बैसे हैं
सिर्फ और सिर्फ आश्बासन देने बाले किरदार बदलतें हैं
और एक हम है
कि हर बार भरोसा कर लेते हैं
चोट के बाबजूद कुछ सिखने को तैयार नहीं हैं
और ये चमकते चेहरें (फ़िल्मी कलाकार )
जो कोई इनको पैसा दे
उसके दरबाजे आ जायेंगें
खेल (मनोरंजन ) दिखाने के लिए
इनके लिए लोगों की परेशानी
कोई महत्ब नहीं रखती है

| NEXT

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

5 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

afzalkhan के द्वारा
January 13, 2014

मेरे ब्लॉंगर दोस्तो आप को जान कर खुशी हो गी के मे जल्द ही अपना हिन्दी न्यूज़ वेब पोर्टलwww.khabarkikhabar.com शुरु कर रहा हु. आप से निवेदन है के आप अपना लेख हमे अपने bio-data और photo के साथ भेजे.आप अपना phone number भी भेजे. आप से सहयोग की प्रार्थना है. kasautitv@gmail.com khabarkikhabarnews@gmail.com अफ़ज़ल ख़ान 00971-55-9909671

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    January 13, 2014

    सदैव मेरे ब्लौग आप का स्वागत है , आभारी हूँ !

विनय सक्सेना के द्वारा
January 9, 2014

मदन सर …. ये मेरा दर्द भी है जो आपकी अव्वाज में बोलता है ……..आपके आवाज आपकी लेखी को सलाम … विनय सक्सेना “रिमझिम फुहार”

    Madan Mohan saxena के द्वारा
    January 13, 2014

    आप का स्वागत है , आभारी हूँ !

Bhagwan Babu 'Shajar' के द्वारा
January 9, 2014

जी सही लिखा आपने.. मेरा नया लेख पढ़िये… राहत शिविरो में पैदा हो रहे है नक्सली…


topic of the week



latest from jagran